Monday, April 11, 2011

जन लोकपाल बिल !

जन लोकपाल बिल
एक पहरेदार
लोकतंत्र का रक्षक बनेगा
चलो, पहुंचो, पहुच जाओ
जंतर मंतर
अन्ना बैठा है वहां
आमरण अनशन पर
आज मौक़ा हंसी है
बढ़ो, लड़ लो
इनसे लड़ लो यारो
मारो, मार डालो 
भ्रष्टाचार को 
कहीं भ्रष्टाचार, भ्रष्टाचारी
कल, शैतान बन जाएं !! 

1 comment:

संजय भास्कर said...

दुर्गाष्टमी और रामनवमी की हार्दिक शुभकामनाएं।